रविवार, 21 अप्रैल 2013

गंदगी दिमाग में होती है


दामिनी कांड के बाद जो लोग दुष्कर्म जैसी घटनाओं के लिए लडकियों की स्वछंदता, कपड़े पहनने के तरीकों और भडकाऊ अदाओं आदि को जिम्मेदार ठहरा रहे थे उनसे सिर्फ इतना पूछना चाहूँगा की क्या 5 साल की नन्ही सी गुडिया पर भी ये बातें लागु होती हैं ?
वह पांच साल की बच्ची है, न अश्लील कपड़े पहनती है,
न बेवक्त घर से बाहर निकलती है, न बार में जाकर पार्टी करती है
और न ही दोस्तों के साथ घूमती है।
लेकिन फिर भी अस्पताल में भर्ती है। आखिर क्यों?
गुड़िया रेप के बाद कई लोगों ने अपने तर्कों में कहा है कि पहनावा और फिल्में भी मानवीय व्यवहार में आ रही विकृती का एक बड़ा कारण है?
क्या गुड़िया रेप केस से यह साबित नहीं होता कि गंदगी दिमाग में होती है, पहनावे में नहीं?आपकी राय क्या है??

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें